1. Mind and Money Resources 2 day's Workshop

   मनेटवर्क मार्केटिंग, सेल्स, बीमा व्यवसाय, प्रापर्टी डीलर, बिजनेस मेन , नौकरी पेशा एवं धन से जुड़े प्रत्येक व्यक्ति के लिये यह एक बेहतरीन वर्कशॉप है। इस वर्कशॉप में हम आपके माईन्ड की प्रोग्रामिंग धन के लिये सकारात्मक है या नकारात्मक है आपको कुछ प्रयोग करवाकर इसका पता लगाते हैं। आपके माईन्ड की री-प्रोग्रामिंग करते हैं ताकि धन आपके जीवन में प्रचुरता से और आसानी से प्रवाहित हो। इस वर्कशॉप में हम आपको बहुत ही प्रेक्टिकली तरीके देते हैं जिससे आप सदैव सफल और धनवान बनने की दिशा में आगे बढ़ें। पैसा तो लगभग सभी कमाते हैं किन्तु फिर भी जिन्दगी भर लोग पैसे के लिये संघर्ष करते रहते हैं तो हम इस वर्कशॉप में आपको आर्थिक रूप से आजाद होने का बेहतरीन नक्सा देते हैं इसके अलावा आसानी से धन कमाने व उसका बेहतरीन तरीके से प्रबंधन करना सिखाते हैं, ताकि पैसा आपके पास जीवन भर रहे और आप उसका पूरा आनंद ले पायें। यह वर्कशॉप दो दिनों का होता है इसमें दोनों दिन का लंच, चाय, स्नेक्स एवं ट्रेनिंग टूल्स आदि शामिल रहता है। इसकी फीस अलग-अलग शहरों में वहां की व्यवस्था अनुसार होती है। वर्कशॉप में एडवॉश बुकिंग अनिवार्य है और एडवाँश बुकिंग पर स्पेशल डिस्काउंट भी रहता है। यदि आप जीवन भर पैसों के लिये संघर्ष नहीं करना चाहते हैं, यदि आप वाकई सफल और धनवान बनना चाहते हैं तो यह वर्कशॉप आपके लिये वरदान है।

 2. Mind and Money Resources 4 hours Seminar

   नेटवर्क मार्केटिंग, सेल्स, बीमा व्यवसाय, प्रापर्टी डीलर, बिजनेस मेन , नौकरी पेशा, बेरोजगार, स्टूडेंट्सआदि सभी के लिये यह एक बेहतरीन सेमीनार है। यह 3 घंटे का सेमीनार है। यह एक मोटिवेशनल सेमीनार है। इसका प्रमुख विषय यह है कि इंसान अपने जीवन में "दौलत और आनन्द" को एक साथ कैसे प्राप्त कर सकता है। बेहतरीन स्वास्थ्य भरपूर धन मजबूत रिस्ते कार्यकुशलता व शॉत और प्रशिक्षत मन को एक साथ कहना हो तो दौलत कहा जाता है। सदैव आनंद के साथ जीना इंसान की उच्चतर संभावना है आनंद का सम्बंध इंसान के आध्यात्मिक जीवन से है, जब इंसान स्वंय को जान लेता है तो वह आनंदित होता है और उस काम को करता है जिसे करने के लिये ही वह धरती पर आया है। कोई भी इंसान अपने जीवन में "दौलत और आनंद " दोनों को कैसे प्राप्त करे यही इस सेमीनार में बताया जाता है। बहुत ही मामूली फीस में इस सेमीनार में 18 साल या उससे ज्यादा उम्र का कोई भी व्यक्ति सहभाग कर सकता है। यह सेमीनार जीवन को एक नई दिशा प्रदान करता है।

 3. ।। समृद्धि स्व-सम्मोहन 2 दिवसीय कार्यशाला।।

   धन जीवन की बहुत बड़ी आवश्यक्ता है। यह कहना अतिश्योक्ति नहीं होगी कि धन हमारे जीवन का आधार है। अच्छा भोजन, वस्त्र, शिक्षा, स्वास्थ्य आदि धन पर ही निर्भर है। किसी भी इंसान के मां के पेट में आने से लेकर मृत्यु के उपरांत तक हर कदम पर उसे धन की आवश्यक्ता होती है। किसी भी व्यक्ति के जीवन में यदि धन आसानी से और सहजता से प्रवाहित होता है तो उस व्यक्ति के जीवन में प्रशन्नता आती है, उसका मन सृजनात्मक व रचनात्मक कार्यों को करने की तरफ उन्मुक्त होता है। धन इंसान के जीवन में गतिशीलता लाता है, धन इंसान को कर्म करने के लिये प्रेरित करता है। जब कोई इंसान आर्थिक रूप से स्वतंत्र होता है तो वह अपने जीवन के उस लक्ष्य पर निशाना साध सकता है जिसे पूरा करने के लिये ही उसने जन्म लिया है। धन के लिये बहुत कड़ी मेहनत करना और अपने जीवन का सारा श्रम और शक्ति धन के लिये लगाना ऐसा ही है जैसे सारी उम्र कंकड-पत्थर जमा करने में लगाना है। इसके विपरीत जब आप यह अनुभव कर लेते हैं कि धन रास्ता है मंजिल नहीं है तो आप धन के प्रति चलने वाले संघर्षों से मुक्त हो जाते हैं और धन आपके जीवन में सहजता से प्रवाहित हो सकता है। अपने अवचेतन मन की शक्ति का उपयोग करके प्रत्येक व्यक्ति अपने जीवन में भरपूर धन प्राप्त कर सकता है। अपने अवचेतन मन की शक्तियों को जानना और भरपूर धन प्राप्त करने के लिये अपने अवचेतन मन की शक्तियों का उपयोग करना सिखाने के लिये हम आपका पूरा सहयोग करते हैं। जब आप भरपूर धन पाने के लिये अपने अवचेतन मन की शक्तियों का सही तरीके से उपयोग करने लगते हैं तो आप धन को आसानी से आकर्षित करने लगते हैं। आप धन के संघर्षों से मुक्त होने लगते हैं।आपका जीवन हर आयाम में खुशहाल बनने लगता है। तो आईये हमारे इस कार्यक्रम में भाग लीजिये और अपने जीवन को खुशहाल बनाईये।

 4. ।। स्वास्थ्य स्व-सम्मोहन 1 व 2 दिवसीय कार्यशाला ।।

   मनुष्य का शरीर साईकोसोमेटिक है। यानि मनुष्य के शरीर में होने वाली तकलीफें उसके मन में पहुँच जाती हैं ठीक इसी तरह से मनुष्य के मन में चलने वाली बीमारियाँ मनुष्य के शरीर में उत्पन्न हो जाती हैं। कैंसर मन की ही एक बीमारी है। अशाँत मन के कारण होने वाली बीमारियों का उपचार मन से ही बेहतर तरीके से होता है बजाय दवाईयों के।मनुष्य के शरीर में होने वाली लगभग 90% बीमारियों का कारण मनुष्य का अशाँत मन है। नकारात्मक विचारों और भावनाओं के अवचेतन मन में पहुँच जाने के कारण मनुष्य अनेक तरह की गंभीर समस्याओं में फँस जाता है। इन समस्याओं का एक बेहतरीन समाधान है। "स्व-सम्मोहन"। स्व-सम्मोहन " से बेहतरीन स्वास्थ्य पाया जा सकता है। इंसान का अवचेतन मन एक अलादीन का चिराग है, जो भी विचार और भावनायें इंसान के अवचेतन मन तक पहुँचती हैं उन्हें इंसान का अवचेतन मन अपनी पूरी शक्ति लगाकर इंसान के जीवन में हकीकत बनाने में लग जाता है। अवचेतन मन बुद्धि का इस्तेमाल करना नहीं जानता है इसलिये यह इंसान के नकारात्मक विचारों और भावनाओं को भी हकीकत बना देता है। चूँकि अवचेतन मन इंसान का 88% मन है, इसलिये यह अत्यंत शक्तिशाली है। ज्यादातर लोग अन्जाने में नकारात्मक विचारों और भावनाओं को अपने अवचेतन मन में पहुँचा देते हैं, ऐसा वे अनेक कारणों से करते हैं, वे उन कारणों को भी नहीं जानते हैं। धन की कमी, बीमारियां, तनाव, खराब रिस्ते और हमेशा जीवन में कुछ कमी महसूस होना आदि समस्यायें हमारे अवचेतन मन में मौजूद नकारात्मक विचार और भावनाओं का नतीजा हैं। अपने अवचेतन मन को नकारात्मक विचारों और भावनाओं से मुक्त करने के कुछ बेहतरीन तरीके हैं। इस कार्यशाला में हम इन तरीकों का उपयोग करते हैं। ऐसा करने से हमारा स्वास्थ्य बेहतर होने लगता है, हम स्वंय से, अपने शरीर से प्रेम करने लगते हैं और इस अद्भुत जीवन का आनंद प्राप्त करने लगते हैं। Contact No. 6265681652

 5. ।। पर्सनल काऊँसलिंग एवं स्व-सम्मोहन ।।

   आप अपने जीवन की किसी भी समस्या के बेहतर समाधान के लिये, कैरियर आदि के मार्गदर्शन के लिये एवं व्यक्तिगत रूप से "स्वास्थ्य स्व-सम्मोहन" "समृद्धि स्व-सम्मोहन" PLR अर्थात पास्ट लाईफ रिग्रेशन (पुर्नजन्म की याद) के लिये माधव मुकुन्द राय जी से सेवायें ले सकते हैं। यह आपके शहर में भी हो सकता है या आप माधव मुकुन्द राय जी के शहर में जाकर उनके सेन्टर में यह सेवा प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिये आप उन्हें email करें या 6265681652 मोबाईल पर कॉल करें।

 6. ।। पंचगव्य एवं आर्गेनिक उत्पाद ।।

   वर्तमान में यदि आप अपने बाथरुम, डे्सरूम , किचन और डायनिंग में उपयोग होने वाले प्रोडक्ट्स की लिस्ट बनायें तो शायद ही कोई ऐसा प्रोडक्ट होगा जो केमीकल फ्री होगा। बड़ी और नामी कंपनियां भी अंधाधुध केमीकल का उपयोग कर रही हैं, सरकार ने भी केमीकल उपयोग करने का लायसेंस दिया हुआ है, कंपनियों और सरकार तो बस पैसा चाहिये चाहे वह कैसे भी आये। मित्रों केमीकल वाले प्रोडक्ट का उपयोग करने से लोगों को अनेक तरह की गंभीर बीमारियां हो रही हैं, शुगर, कैंसर, नपुंसकता, तनाव, मनोरोग, डी.एन.ए चैंज होना, समय से पहले बुढ़ापा आना और उम्र कम होना आदि समस्यायें दिन-प्रतिदिन बढ़ रही हैं। ऐसे मुश्किल समय में भी यदि आप चाहें तो पंचगव्य एवं जैविक (आर्गेनिक) उत्पाद अपनाकर अपने और अपने परिवार के सदस्यों को सदैव स्वस्थ रख सकते हैं। बेहतरीन क्वालिटी के शुद्धता की गारंटी वाले उत्पाद आप हमसे ऑनलाईन व ऑफलाईन भी प्राप्त कर सकते हैं। उत्पादों की लिस्ट देखें।